infotainment Khabron se Hatkar

क्रेडिट कार्ड से कैश निकालना पड़ा सकता है भारी…जान लें ये बातें

आज के इस स्मार्ट और डिजीटल युग  में आपके बटुए में पैसे हो या ना हों लेकिन आपके वॉलेट में कार्ड्स जरुर होने चाहिए। खासतौर पर क्रेडिट कार्ड, जो आपके बैंक अकाउंट के खाली होने पर भी आपका साथ देता है। लेकिन क्रेडिट कार्ड को लेकर अगर आपको सही जानकारी नहीं है तो आपको नुक्सान भी काफी उठाना पड़ सकता है। सबसे बड़ा नुक्सान जब आप क्रेडिट कार्ड से नकदी निकालते हैं, तो इसके लिए आपको चार्जेज भी चुकाने पड़ते हैं. 

अगर आप स्मार्ट तरीके से इस स्मार्ट क्रेडिट का इस्तेमाल करते हैं तो क्रेडिट कार्ड घाटे का सौदा नहीं है। लेकिन अगर आपको चार्जेज की जानकारी नहीं है,तो आप ने जितना कैश निकाला है, उससे ज्यादा आप पर लगने वाले चार्ज हो सकते हैं. आगे जानें इन चार्जेस के बारे में. 

भारी पड़ सकता है कैश निकालना:

क्रेडिट कार्ड से कैश निकालना भारी पड़ सकता है. मान लीजिए आप ने 10 हजार रुपये क्रेडिट कार्ड से कैश निकाले. इस पर बैंक आप से 500 रुपये की कैश एडवांस फीस वसूलता है. ब्याज 3 फीसदी रखा जाता है. तो इस तरह आप 10800 रुपये वापस देंगे. 

क्रेडिट कार्ड से निकाले गए कैश को वापस करने के लिए कोई इंटरेस्ट फ्री पीरिएड  नहीं होता है. ऐसे में जब तक आप भुगतान नहीं करेंगे, तब तक आप पर भार बढ़ता जाएगा. 

ब्याज:

आगर आप अपने क्रेडिट कार्ड से कैश निकालने जा रहे है तो आपको इस पर मासिक ब्याज देना होगा. ये चार्ज तब तक वसूला जाता है, जब तक आप भुगतान नहीं कर लेते हैं. कैश पर यह चार्ज 2.5 से 3 फीसदी होता है.

फाइनेंस चार्ज: 

जब  भी आप कैश निकालते हैं, तो आपको फाइनेंस चार्ज भी चुकाना होता है. यह चार्ज आपको तब तक देना होता है, जब तक आप ने इसका भुगतान नहीं किया. अक्सर यह चार्ज कैश एडवांस फीस के ही आसपास होता है. 

बता दें कि ज्यादातर बैंक क्रेडिट कार्ड जारी करने के लिए आपकी मासिक आय और क्रेडिट स्कोर देखती हैं. सामान्य तौर पर आपके पास 650 से ज्यादा क्रेडिट स्कोर होना चाहिए. हालांकि क्रेडिट स्कोर के साथ ही बैंक लेन-देन से जुड़ी आपकी कई और चीजें भी देखता है. 

 

 

/* ]]> */