Blogs Health & Fitness Khabron se Hatkar Latest

क्या आपके नाखूनों पर भी है सफ़ेद निशान ? जानिये आपसे जुड़े इनके कनेक्शन

Lunar spots on nails

अगर आपने आपने नाखूनों को ध्यान से देखें तो आपको उनपर सफ़ेद निशान जो चाँद जैसे आकर का लगता है वो दिखाई देगा। लेकिन क्या आप इस बारें में जानते हैं की आखिर इस निशान का क्या मतलब होता है। अगर नहीं तो चलिए आज आपको बताएंगे की आखिर इनके क्या हैं मायने और और कैसे हो इससे आपको लाभ। अगर हस्त रेखा के शास्त्रों की मानें तो इस सफ़ेद निशान को लुनार कहते हैं और हिंदी में छोटा चाँद। इस सफ़ेद निशान से व्यक्ति के किस्मत के राज़ खोले जा सकते हैं।

white spots on nails

वैसे डॉक्टरों के अनुसार इन निशानों से आपके हेल्थ कंडीशन का भी पता लगाया जा सकता है। चीन में इन निशानों को स्वास्थ्य नापने के लिए एक बैरोमीटर की तरह देखा जाता है। हर व्यक्ति के नाख़ून पर इन निशानों की स्तिथि अलग अलग देखी जा सकती है। कई बार ये पूरा साफ़ दिखता है तो कई बार इस चाँद के एक छोटा भाग दिखता है।  नाख़ून पर बनने वाले इस आधे चाँद लूनर का कारण एपिडर्मिस नाम का एक तत्त्व माना जाता है और ये निशान भी इसी तत्त्व का पांचवा परत माना जाता है साथ ही ये नाख़ून का मुख्य जड़ भी होता है। किसी कारण अगर ये खराब हो जाएं तो नए नाख़ून नहीं निकलते।


हस्त शास्त्रों जानकार के अनुसार आधे चाँद के निशान से व्यक्ति के स्वाभाव का भी पता कर सकते। हैं इस निशान से हम जान सकते हैं की व्यक्ति शांत स्वाभाव का है या चंचल। अगर नाख़ून पर लुनार कम दिखता है तो व्यक्ति काफी नीरस ,डल कहा जाता है।

कहते है जिन लोगों के नाखूनों में पूरा चाँद बनते दिखता है उनकी शादीशुदा ज़िन्दगी बहुत अच्छी रहती है। ऐसे लोग आमतौर पर लव मैरिज भी करते हैं। लोग इनके साथ काफी अच्छे से मिलते जुलते है और ये बहुत ही भावुक किस्म होते हैं।  


वहीँ जिन लोगों के नाख़ून पर चंद्र साफ़ दिखता है उनकी किस्मत काफी तेज़ होती है,जीवन में खूब तरक्की करते हैं,साड़ी सुख सुविधाएं प्राप्त कर लेते हैं और आसमान की बुलंदियों को छूते हैं।


नाखून पर पाये जानेवाले ये सफ़ेद निशान या लुनार आपके शरीर में होने वाले बदलाव का भी संकेत देते हैं। अगर आपके नाख़ून में रंग सफ़ेद की जगह नीला या पीला दिखे तो सावधान हो जाएं ये डायबिटीज होने की ओर इशारा करते हैं।


वही अगर कभी नाख़ून पे लुनार के निशान लाल रंग के दिखें तो ऐसे लोगों को दिल की बिमारी होने का संकट होता है। ऐसे व्यक्ति को सांस लेने में तकलीफ होती है ,इनकी ह्रदय गति भी बढ़ जाती है साथ ही पेट की परेशानियां भी होने लगती हैं।

/* ]]> */