infotainment Khabron se Hatkar

टॉयलेट में मोबाइल फोन का इस्तेमाल सेहत के लिए खतरे की घंटी,जानिए कैसे…

हर किसी के जीवन में मोबाइल फोन एक अहम हिस्सा बन चुका है. हर कोई मोबाइल को अपने पास ही रखना चाहते हैं.  यही वजह है कि हम जहां भी जाते हैं मोबाइल फोन हमारे साथ ही रहता है. 

लोगों का मोबाइल फोन को लेकर एडिक्शन इतना ज्यादा बढ़ गया है कि टॉयलेट में भी लोग अपने मोबाइल को इस्तेमाल करते हैं.

एक स्टडी की रिपोर्ट के मुताबिक, ऑस्ट्रेलिया के लगभग 41 फीसदी लोग टॉयलेट में मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं. हाल ही में एक सर्वे में सामने आया था कि दुनियाभर में करीबन 75 फीसदी लोग टॉयलेट में मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं. अगर आपको अपनी सेहत से प्यार है तो मोबाइल को टॉयलेट में ले जाने से बचने की कोशिश करें. 

क्या कभी किसी ने ये सोचा है कि टॉयलेट में मोबाइल फोन का इस्तेमाल सेहत पर क्या असर डाल सकता है? अगर नहीं तो ये रिपोर्ट पड़ने के बाद आप टॉयलेट में मोबाइल फोन इस्तेमाल करने से पहले जरूर सोचेंगे. 

  •  मोबाइल का कवर जो आमतौर पर प्लास्टिक या रबड़ से बना होता है, उसपर सबसे ज्यादा बैक्टीरिया चिपकते हैं, जो आपको बीमार करने में अहम भूमिका निभाते हैं. 
  • कुछ लोग टॉयलेट में मोबाइल का इस्तेमाल तो नहीं करते हैं, लेकिन फिर भी वे टॉयलेट और बाथरूम में अपने मोबाइल को साथ लेकर जाते हैं. आपकी ये आदत आपको बीमार करने के लिए काफी होती है.
  • टॉयलेट से निकलने के बाद लोग अपने हाथों को वॉश कर लेते हैं और उन्हें लगता है कि अब बैक्टीरिया का असर उनपर नहीं होगा. अगर आपको भी ऐसा लगता है तो आप बिल्कुल गलत हैं.  
  • दरअसल, टॉयलेट से निकलने के बाद आप हाथ तो साफ कर लेते हैं, लेकिन मोबाइल पर चिपके बैक्टीरिया फिर से एक बार आपके हाथों पर लग जाते हैं और जब आप कुछ खाते हैं तो ये बैक्टीरिया आपके मुंह के जरिए आपके पेट में उतर जाते हैं, जिससे आप कई गंभीर बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं. 

 

/* ]]> */