Indian Politics Latest national

LG VS CM- आज होगा फैसला, दिल्ली में किसका राज? उपराज्यपाल या दिल्ली सरकार…

दिल्ली में किसका राज? दिल्ली का बॉस कौन? ये ऐसे सवाल हैं जो अरविंद केजरीवाल के सत्ता में आने से लगातार बने हुए हैं। केजरीवाल सरकार की तरफ से उपराज्यपाल पर आरोप लगते रहे हैं कि एलजी साहब केजरीवाल को काम नहीं करने देते। तो आज सुप्रीम कोर्ट द्वारा इस बात फैसला किया जाएगा कि दिल्ली का सरताज कौन?

आज है फैसले का दिन

बुधवार को सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ इस मसले पर अपना फैसला सुनाएगी। पांच जजों की संविधान पीठ में चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के साथ जस्टिस एके सीकरी, जस्टिस एएम खानविलकर, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस अशोक भूषण शामिल हैं।

हाई कोर्ट ने किया था फैसला

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट से पहले ये मामला हाईकोर्ट में था। जहां फैसला किया गया ता कि दिल्ली में सबसे बड़ी शक्ति उपराज्यपाल है। हाईकोर्ट ने 4 अगस्त, 2016 को फैसला सुनाया था कि उपराज्यपाल ही दिल्ली के प्राशसनिक प्रमुख हैं और दिल्ली सरकार उपराज्यपाल की अनुमति के बिना कानून नहीं बना सकती। इसके साथ ही उपराज्यपाल, दिल्ली सरकार के बाध्य नहीं है।

आपको बता दें कि इस फैसले के बाद से अरविंद केजरीवाल का हमेशा आरोप रहा है कि उपराज्यपाल उनके कामों में रोड़ा अटकाते हैं, उनकी फाइलें आगे नहीं बढ़ने देते। तो आज कुछ ही समय में सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला सुनाएगी कि दिल्ली में उपराज्यपाल  की चलेगी या जनता द्वारा चुनी हुई सरकार की?

/* ]]> */