AAP BJP Education Latest State

यूपी-बिहार के छात्रों पर दिल्ली के छात्रों का कह़र ! देखें वीडियो

Student fill up admission for new addmission in Ist year Delhi University at art faculty for the graduation courses in north campus in New Delhi on 05 June 2013 Photo By Qamar Sibtain

2 अप्रैल को एससी/एसटी एक्ट को लेकर दलित संगठनो ने भारत बंद किया था जिसमें हिंसा की  खौफ़नाक तस्वीरें सामने आई थी जिसके विरोध में कल यानि 10 अप्रैल को General और Obc ने भारत बंद किया था जहां बिहार में काफी हिंसक माहौल रहा था। क्या हमनें सोचा है कि ऐसी स्थिति देश को और पीछे कर रही है, नहीं बस सब एक दौड़ में दौड़ रहे हैं जिसके चलते अब शिक्षा के मंदिरों में भी जातिवाद शुरु होता जा रहा है और जो लोग दूसरे शहरों से या दूसरे राज्यों से दिल्ली पढ़ने के लिए आते है जिनके दिलों में ये तन्नना रहती है कि अपने घरों से दूर रह कर वे अपने लिए और देश की तरक्की के लिए कुछ करेगें उनके लिए परिस्थितियों को संभाल पाना मुश्किल हो रहा है।

ऐसा एक वाक्या आया है दिल्ली यूनिवर्सिटी के कॉलेज किरोड़ीमल से जिसे नॉर्थ कैंपस का बेहतरीन कॉलेज माना जाता है। जहां एक तरफ हम ये कहते है कि सबको बराबरी से जीने का हक़ है भेदभाव की भावना को खत्म कर दिया गया है समानता की बात कि जाती है। लेकिन क्या ये पूरी तरह से सही है, इस कॉलेज में हुई इस वारदात को लेकर तो नहीं लगता कि सामनता है। दरअसल दिल्ली के किरोड़ीमल कॉलेज से एक चौंका देने वाला मामला सामने आया है जहां कॉलेज का एक ग्रुप एक लड़के को पीट-पीट कर घायल कर देता है। पीड़ित छात्र का कहना है कि वो लोग मुझसे पैसे मांग रहे थे और कह रहे थे कि तुम यूपी-बिहार के हो यहां तु्म्हारी नहीं चलेगी जिससे परेशान हो कर छात्र ने पुलिस में  शिकायत दर्ज कराई थी लेकिन उसका कहना है कि पुलिस ने उसकी बातों को गंभीरता से नहीं लिया।

आपको बता दें कि ये पूरी घटना 15 मार्च की है जहां रात के समय एक छात्रों का गुट एक दूसरे छात्र को मारता है। पहले एक मारता है फिर कई सारे लड़के उसको मारना शुरू कर देते हैं। अपने आप को अकेला पाकर वो छात्र भागने में सफल हो जाता है, और ये पूरी घटना कॉलेज के गेट के पास लगे सीसीटीवी में कैद हो जाती है।

अब सवाल ये उठता है कि सरकार जो समानता के अधिकार की बातें करती है वो यहां क्यों नहीं दिखाई दी एक छात्र जो छोटे शहर से आया है क्या उसे बड़े शहर में खुल कर जीने का हक़ नहीं है क्यों विद्या के मंदिर में एक छात्र को सिर्फ इसलिए मारा गया क्योकि वो छोटे शहर का है क्या यही है देश का भविष्य …….बातें बड़ी बड़ी लेकिन सच क्या है इस वीडियो में साफ देखा जा सकता है। 

/* ]]> */