#Business Business Latest national Relationship World

ऐसे रहें फ़ेसबुक से डेटा चोरी होने से सचेत

फ़ेसबुक डेटा लीक

फ़ेसबुक डेटा लीक मामले ने राजनीतिक गलियारों में आग लगाने के बाद अब यूज़र्स की चिंता बढ़ा दी हैं। यही वज़ह है कि ज्सातर यूज़र्स या तो इसे छोड़ चुके हैं या फिर फ़ेसबुक की टाईम लाईन पर छोड़ने की घोषणा कर चुके हैं। जिसका नतीजा ये है कि फ़ेसबुक के शेयर मार्केट में धड़ाम से गिर गये हैं जिसके चलते फ़ेसबुक को चार लाख करोड़ रूपए का नुकसान भी हो चुका है।

जानकारी के अनुसार मौजूदा स्थिति में करीब 200 करोड़ यूजर्स फ़ेसबुक का इस्तेमाल करते हैं। द वर्जवेबसाइट के मुताबिक अभी भी फेसबुक के 200 करोड़ यूजर्स का फेसबुक पर भरोसा कायम है। वहीं लगातार आ रही डेटा चोरी की खबरों के चलते लगभग दस करोड़ यूजर्स ऐसे हैं, जो या तो अपना फेसबुक अकाउंट डिलीट या डिएक्टिवेट कर चुके हैं।

तो क्या फ़ेसबुक को अलविदा कहना सही है?

फ़ेसबुक को छोड़ना ये इस समस्या का हल नहीं हो सकता। क्योंकि इस भाग-दौड़ भरी ज़िंदगी में फ़ेसबुक कहीं न कहीं हमें अपनों के करीब बनाये रखने का काम करता है। हां इससे सचेत रहने की आवश्यता ज़रुर है।

क्या न करें ?

अगर आप फ़ेसबुक यूज़र हैं तो इससे आपको सचेत रहने की ज़रुर आवश्यकता है। जैसे- फ़ेसबुक पर वॉल पर आने वाली तमाम एप्लीकेशन्स को दर किनार करें। अधिकतर देखा गया है कि लोग तरह-तरह की एप्लीकेशन्स को अपने एकाउंट को कनैक्ट कर तरह-तरह उनसे मिलने वानी जानकारियों को अपनी वॉल पर पोस्ट करते हैं ये एप्लीकेशन्स बेशक आपको दो पल के लिए खुशी प्रदान करें लेकिन आप इस बात से अंजान होते हैं कि वो आपको झूठी जानकारी देकर आपसे आपकी ज़रुरी जानकारी ले लेती है।

/* ]]> */