delhi ncr mukhya khabar

ख़बर काम की, बदलने वाली है चांदनी चौक की तस्वीर, यूं होगा बदलाव बस CM की हां की जरूरत

सौ. गूगल

ये भीड़-भाड़, ये तारों का जंजाल, रिक्शों की लंबी कतार…ये कुछ शब्द हैं जो दिल्ली के सबसे पुराने और इतिहास से जुड़े इलाकों में से एक … “चांदनी चौक” को समझाने के लिए इस्तेमाल किए जा सकते हैं.

चांदनी चौक

चांदनी चौक देश की राजधानी दिल्ली के सबसे व्यस्त इलाकों में से एक है. यहां की भीड़ देख किसी का भी दिमाग़ खराब हो सकता है, कोई भी परेशान हो सकता है. चांदनी चौक की गलियां पुरानी होने के साथ-साथ इतिहास का हिस्सा भी हैं. यहां रिक्शों की लंबी कतार, और इंसानों का अबार है. इस सब के चलते ये जगह सबसे व्यस्त, और भीड़ भाड़ वाला इलाका है. चांदनी चौक पर देशभर से रोज हजारों लोग खरीदारी करने आते हैं.  लेकिन अब तस्वीर बदलने वाली है.

नहीं समझे तो हम समझाते हैं. दरअसल, दिल्ली शहर में यातायात, परिवहन और इंजीनियरिंग मामले देखने वाली संस्था एकीकृत यातायात और परिवहन बुनियादी केंद्र (UTTIPEC) की हालिया बैठक में निर्णय लिया गया है कि चांदनी चौक अब जल्द ही नो व्हीकल जोन बन जाएगा. इसका अर्थ ये है कि यहां भीड़ एक हद तक खत्म. ऐसे में यहां आप अपनी गाड़ी नहीं ले जा सकेंगे क्योंकि यहां दिनभर भारी भीड़ रहती है.

जानकारी के लिए बता दें कि नो व्हीकल जोन बनने के बाद चांदनी चौक के इस इलाके में सुबह 9 बजे से रात 9 बजे के बीच वाहनों की आवाजाही नहीं होगी. किसी को भी इस क्षेत्र में वाहन चलाने की अनुमति नहीं मिलेगी. इस दौरान यहां केवल पैदल चलने वाले यात्री, रिक्शा और ई-रिक्शा को ही चलने की अनुमति होगी.  फिलहाल, इस प्रस्ताव को दिल्ली सरकार की सहमति के लिए भेजा गया है.

लेकिन इस फैसले को अमली जामा पहनने में अभी समय कितना लगेगा इसकी तारीख अभी तय नहीं. लेकिन हां, अगर दिल्ली सरकार इसपर सहमत हो जाती है तो दिल्लीवालों को ही नहीं बल्कि राज्य के बाहर से आने वाले लोगों को भी इससे राहत मिलेगी.

देखा जाए तो लोग तो इस प्रस्ताव से सहमत हैं. यहां तक कि दिल्ली के एलजी अनिल बेजल ने भी इस प्रस्ताव को मंजूरी देदी है. इसके बाद आखिरी अनुमति दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिलनी है. इसके साथ-साथ लोगों का कहना है कि बाज़ार में पार्किंग स्पॉट भी बनना चाहिए, जिससे कि लोगों को परेशानी न हो.

/* ]]> */