Blogs Education national Travel

राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह के पहले दिन जानें ट्रैफिक संकेतों के बारे में

 

आज से भारत में राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह की शुरूआत हो रही है, आज से यानी 11 जनवरी से शुरू होकर 17 जनवरी तक चलेगा। इस सात दिनों के दौरान हम आपको भारत में यातायात से जुड़ी कई अहम बातों को बताएंगे, तो आज के एपिसोड में हम आपको बताएंगे ट्रैफिक साइन के बारे में हालांकि कई साइन को हम आसानी से समझ जाते है लेकिन कई साइन का मतलब हमें नहीं पता होता इसी चक्कर में हम ट्रैफिक नियम का उल्लंघन कर जाते है। चलिए एक बार ट्रैफिक साइन और उसके मतलब को ग्राफिक्स के जरिए समझते है।

 इस साइन का मतलब है वन वे ट्रैफ़िक।

अगर किसी जगह पर आपके ये संकेत दिखते है तो इसका मतलब है कि इस जगह पर गलत साइड में वाहन ले जाना स्वीकार नहीं है।

इस संकेत का मतलब है नो एंट्री।

 अगर किसी एरिया में ये संकेत आपको दिखता है इसका साफ मतलब है यहां ना जाएं।

इस संकेत का मतलब है, नो एंट्री बोथ साइड।

अगर इस संकेत को आप देखते है तो इसका मतलब है कि राइट एंड लैफ्ट दोनों ही साइड आप एंट्री नहीं कर सकते।

कोई मोटरसाइकिल नहीं।

अगर इस संकेत को किसी जगह पर आप देखते है तो इसका मतलब है कि इस इस जगह पर मोटरसाइकिल लाने पर रोक है।

साइकिल लाना मना है।

इस संकेत का मतलब है कि इस एरिया में साइकिल लाना मना है।

भारी वाहन वर्जित।

इसका मतलब है कि इस एरिया में भारी वाहनों पर रोक है।

कोई पैदल चालक नहीं।

इस साइन से आपको ये बताया जा रहा है कि इस एरिये में कोई भी पैदल चालक अलाऊ नहीं है।

 

इस संकेत का अर्थ है रूकना मना है।

1.बाएं मुड़ना वर्जित

  दाएं मुड़ना वर्जित

 2.

ये संकेत कॉमन संकेत है जो आपको ज्यातर जगहों पर दिख सकता है और इस पहले संकेत का मतलब है बाएं मुड़ना मना जबकि दूसरा संकेत ये कह रहा है कि दाहिने मुड़ना मना है।

बाएं मुड़ें

दाएं मुड़ें

पहला संकेत आपको बताता है कि कि आपको बाएं मुड़ना है दूसरा संकेत बताता है कि आपको दाएं मुड़ना।

  इन संकतों के जरिए आपको यातायात के नियमों का पालन करने में आसानी होती है, इन सभी संकेतों में एक चीज़ गौर करने वाली है कि जिस गोले के अंदर संकेत के ऊपर लाल लाइन लगी है उसका मतलब है ये नहीं करना है वहीं जब गोले के अंदर संकेत के ऊपर किसी तरह का लाइन  ना हो तो इसका मतलब है कि ये अलाऊ है। तो इस तरह से आप इसमें अंतर समझ सकते है।

 

 

/* ]]> */