Business Politics State

पतंजलि के आरोपों के बाद योगी सरकार का फैसला, यूपी से बाहर नहीं जाएगा पतंजलि फूड पार्क

यूपी के ग्रेटर नोएडा में बनने वाले पतंजलि फूड पार्क शिफ्ट करने की खबरों के बाद योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में खुद हस्तक्षेप किया और बाबा रामदेव से बात की।

यूपी से बाहर नहीं जाएगा फूड पार्क

बाबा रामदेव से बात करने के बाद ये मामला शांत हुआ। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि फूड पार्क का प्रस्ताव लगभग पूरा हो चुका है। कुछ छोटी मोटी अड़चने हैं, जिन्हें जल्द ही निपटा लिया जाएगा। जानकारी के मुताबिक फूड पार्क को यूपी से बाहर न ले जाने का फैसला लिया गया है। इस फैसले के बाद बाब रामदेव भी संतुष्ट हुए।

पतंजलि फूड पार्क के मामले को आगे बढ़ने से रोकते हुए योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को कैबिनेट की अगली बैठक में ही इससे जुड़े प्रस्ताव को पेश करने का निर्देश भी दिया।

यूपी सरकार पर आरोप

गौरतलब है कि पतंजलि आयुर्वेद के एमडी और पतंजलि योगपीठ के संस्थापक आचार्य बालकृष्ण ने यूपी सरकार पर आरोप लगाते हुए ट्वीट किया था कि आज ग्रेटर नोएडा में फूड पार्क को निरस्त कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का रवैया बेहद निराशाजनक है और इससे किसानों की स्थिति नहीं सुधर सकती है। साथ ही उन्होंने पतंजलि फूड पार्क के इस प्रोजेक्ट को शिफ्ट करने की जानकारी भी दी। इसके अलावा उन्होंने कहा कि यूपी सरकार काम कम धींगा मस्ती ज्यादा करती है।

इस मुद्दे को योगी आदित्यनाथ ने गंभीरता से लिया और बाबा रामदेव से दो बार बात की। जिसके बाद मामला शांत हुआ।

लोगों को मिलेगा रोजगार

बता दें कि अगर पतंजलि फूड पार्क का ये प्रोजेक्ट यूपी के ग्रेटर नोएडा में ही शुरु हो जाता है तो इससे 10,000 लोगों को रोज़गार मिलेगा। इस प्रोजेक्ट में पतंजलि ने 1600 करोड़ रुपए निवेश करने की बात कही थी।

/* ]]> */