BJP Indian Politics Latest national World

एससीओ सम्मेलन के लिए मोदी चीन रवाना, इन मुद्दों पर हो सकती है बातचीत

एससीओ

चीन के किंगडाओ में होने वाले शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) सम्मेलन के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को रवाना हो गये। दो दिनों तक चलने वाले इस शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की ऐतिहासिक अनौपचारिक मुलाकात होगी। माना जा रहा है कि, एससीओ शिखर सम्मेलन में क्षेत्रीय सुरक्षा और आतंकवाद पर चर्चा हो सकती है इसके साथ ही इसमें मोदी पाकिस्तान द्वारा आतंकवाद को बढ़ावा देने का मुद्दा उठा सकते हैं।

इधर, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर करते हुए लिखा है कि, एससीओ का पूर्ण सदस्य बनने के बाद पिछले एक वर्ष में इन क्षेत्रों में संगठन और उसके सदस्यों के साथ हमारा संवाद खासा बढ़ा है। मेरा मानना है कि चिंगदाओ शिखर सम्मेलन एससीओ एजेंडा को और समृद्ध करेगा और एससीओ के साथ भारत के सम्पर्क की एक नई शुरुआत होगी।

इसके साथ ही उन्होंने लिखा है कि, एससीओ के पास सहयोग के लिए एक समृद्ध एजेंडा है, जिसमें आतंकवाद, अलगाववाद और अतिवाद से लड़ने से लेकर कनेक्टिविटी, वाणिज्य, सीमा शुल्क, कानून, स्वास्थ्य और कृषि में सहयोग को बढ़ावा देना है, पर्यावरण की रक्षा और आपदा जोखिम को कम करना और लोगों से लोगों के संबंधों को बढ़ावा देना। पिछले एक साल में जब भारत एससीओ का पूर्ण सदस्य बन गया, तो संगठन और उसके सदस्य देशों के साथ हमारी बातचीत इन क्षेत्रों में काफी बढ़ी है।

I will be visiting Qingdao in China for the annual meeting of the Council of Heads of States of the Shanghai…

Narendra Modi यांनी वर पोस्ट केले 8 जून 2018

उन्होंने लिखा कि, मेरा मानना ​​है कि क़िंगदाओ शिखर सम्मेलन एससीओ एजेंडा को और समृद्ध करेगा, जबकि एससीओ के साथ भारत की भागीदारी के लिए एक नई शुरुआत की शुरुआत होगी। भारत एससीओ के सदस्य देशों के साथ गहरी दोस्ती और बहु ​​आयामी संबंधों का आनंद लेता है। एससीओ शिखर सम्मेलन के दौरान, मुझे कई एससीओ सदस्य देशों के राज्यों के प्रमुख समेत कई अन्य नेताओं के साथ विचारों को साझा करने और साझा करने का अवसर मिलेगा।

/* ]]> */