BJP BSP Congress Indian Politics Latest national Politics Politics

‘वन नेशन – वन इलेक्शन’ की ओर भारत, क्या बन पाएगी सहमति? बैठक जारी

वन नेशन

‘देश में ‘वन नेशन – वन इलेक्शन’ योजना को ज़मीन पर उतारने के लिए विधि आयोग (लॉ कमीशन) ने सर्वदलीय बैठक बुलाई है। 7 और 8 जुलाई तक चलने वाली इस बैठक में देश की विभिन्न पार्टियों के प्रतिनिधि और वरिष्ठ नेता मौजूद हैं। इस बैठक में लोकसभा और विधानसभा के चुनाव एक साथ कराने पर विचार विमर्श किया जाएगा।

इस मौके पर केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि बार-बार चुनाव होने के कारण जनता का काफी पैसा काफी इस पर खर्च होता है। चुनाव के दौरान अधिकारियों की पोस्टिंग से शासन व्यवस्था भी प्रभावित होती है। एक राष्ट्र एक चुनाव पर केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘हमारा लोकतंत्र 70 साल पुराना है चुनावी प्रक्रिया में स्थिरता होनी चाहिए। लॉ कमीशन की सिफारिशों का इंतज़ार करना चाहिए।

आपको बता दें कि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी काफी दिनों से देश में एक साथ इलेक्शन कराने के पक्षधर रहे हैं। जिसके लिए वो कई बार देश के विभिन्न राजलीतिक दलों से एक साथ आने की बात भी कर चुके हैं। हालाकि, कांग्रेस का इस मुद्दे पर अलग ही राग है कांग्रेस का कहना है कि, आने वाले तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव में हारने के डर से बीजेपी इस मुद्दे को जोर शोर से उठा रही है। हालांकि, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी एक साथ चुनाव कराने के पक्ष में हैं।

गौरतलब है कि, आयोग ने चुनाव को 2019 से चुनाव दो चरणों में कराने के सुझाव दिए। दस्तावेज में कहा गया था कि 2024 में दूसरे चरण का चुनाव एक साथ हो सकता है। दस्तावेज में संविधान और जन प्रतिनिधित्व अधिनियम में संशोधन का प्रस्ताव भी दिया गया है। बीजेपी, कांग्रेस, सीपीआई, सीपीआई (एम), टीएमसी, बीएसपी और एनसीपी चुनाव आयोग द्वारा मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय पार्टियां हैं।

/* ]]> */