Business Latest national World

2025 तक भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता बाजार बनने की ओर अग्रसर: राष्ट्रपति

राजधानी

राजधानी दिल्ली में आयोजित भारतीय सनदी लेखाकार संस्थान (ICAI) के प्लेटिनम जुबली समारोह में शिरकत करने पहुंचे महामहीम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दावा करते हुए कहा कि, 2025 तक भारतीय अर्थव्यवस्था एक नई उड़ान भरने को तैयार है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि, 2025 तक देश की जीडीपी 5,000 अरब डॉलर के आंकड़े को छू लेने की संभावना है। जिसके बाद भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता बाजार बन सकता है।

उन्होंने कार्यक्रम में आये लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि, ‘‘अगले दशक में भारतीय अर्थव्यवस्था नई उड़ान भरने को तैयार है और 2025 तक देश की जीडीपी का आकार दोगुना होकर पांच हजार अरब डॉलर होने की उम्मीद है।’’

इतना ही नहीं महामहीम ने चार्टड अकाउंटेंटों की भूमिका अहम बताते हुए कहा कि, देश की कर प्रणाली और करदाताओं को सुविधा देने में चार्टड अकाउंटेंटों की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने निष्पक्ष कर प्रणाली के अनुपालन पर जोर देते हुए कहा कि इसका आशय सरकार को राजस्व देने से कहीं अधिक है।

गौरतलब है कि, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से पहले वर्ल्ड बैंक भी भारतीय अर्थव्यवस्था की तारीफ़ कर चुका है। वर्ल्ड बैंक अनुसार भारतीय अर्थव्यवस्था में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के कारण आई सुस्ती दूर हो चुकी है और यह दोबारा दुनिया की सबसे तेज रफ्तार अर्थव्यवस्था बनने की ओर बढ़ रही है। इस साल इसकी विकास दर 7.3 फीसदी और 2019 में 7.6 फीसदी तक पहुंच सकती है. 2028 तक भारत तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन सकता है।

/* ]]> */