Khabron se Hatkar Latest State

शादी में रोने की एक्टिंग सिखनी है तो आ जाओ भोपाल, क्योंकि यहां होता है विदाई का क्रैश कोर्स

नए दौर में रोने की शिक्षा

पढ़ाई लिखाई के कोर्स पुराने हुए ये नया दौर है, नया वक्त है. समय के साथ बढ़ रहे कॉम्पिटिशन के चक्कर में इतने सारे इंस्टियूट्स खुल गए हैं कि समझ नहीं आता किसमें क्या पढ़ाया जाता होगा.  लेकिन कभी सोचा नहीं था कि ऐसा भी इंस्टियूट्स खुल जाएगा जहां लड़कियों को रोने का तरीक़ा सिखाया जाएगा. हम तो सुन कर हैरान हो गए मुमकिन है आप भी होंगे. क्योंकि मध्यप्रदेश के भोपाल में एक ऐसा इंस्टियूट्स है जो शादी की विदाई का क्रैश कोर्स कराता है. 

सुनने में अटपटा, लेकिन कारगर

सुनने में अटपटा जरूर लगता है, कुछ लोग तो विश्वास तक नहीं करेंगे. लेकिन हक़ीकत में ऐसा ही हो रहा है. कमाल की बात ये है इस इंस्टियूट्स में  शादी की विदाई के समय रोने की  एक्टिंग भी सिखाई जाती है. 

ये कोर्स शुरू किया है भोपाल की रहले वाली राधिका रानी ने.  इस कोर्स में विदाई के समय रोने की पूरी एक्टिंग सिखाने के साथ साथ दुल्हन और उसकी सहेलियों को भी सिखाया जाता है कि कैसे रोयें शादी के वक्त. अच्छी बात ये है कि इस एक्टिंग कोर्स के लिए आपको ज्यादा दिन नहीं देंगे पड़ेंग  ये कोर्स मात्र सात दिन का है. वहीं कोर्स शुरू करने वालों का कहना है कि इस कोर्स का मकसद विदाई जैसे सेंसिटिव पलों को हास्यास्पद होने से बचाना है. 

एक फनी वाक्य के बाद शुरू हुआ कोर्स

राधिका का कहना है कि, एक बार वो एक शादी में गई थी तो विदाई का समय आते ही दुल्हन की सहेलियों को चिंता होने लगी की रोया कैसे जाए.  यही सोचते सोचते समय बीत गया फिर एक सहेली ने रोना शुरू किया, लेकिन उसने  इतनी भायनक ओवरएक्टिंग कर दी कि दुल्हन रोने की जगह हंसने लगी. फिर क्या था जो वहां मौजूद थे पेट पकड़कर हंसने लगे और पूरा माहौल ऐसा हो गया जैसे कोई कॉमेडी शो देख रहे हों. 

सही ही तो हुआ…

जिस रफ्तार से दौर बदल रहा है उसमें सबसे ज्यादा मुश्किल काम दुल्हन की विदाई पर रोना ही होता है. हम तो यहीं कहेंगे कि विदाई के दौरान हास्य का पात्र बनने से अच्छा कि थोड़ी सी ट्रेनिंग ले ली जाए, फिर भले ही वो कुछ समय के लिए ही क्यों न हो. 

WWW.STORYHOW.IN

 

/* ]]> */