Blogs Khabron se Hatkar Latest national Politics

मैं हिंसा की आग झेल रहा हूं… हां मैं भारत हूं और आज मैं बंद हूं

मैं भारत हूं, आज मैं बंद हूं

भारत एक ऐसा देश जहां देश प्रेम और भाईचारें की बातें कि जाती है, समानता कि बातें कि जाती है हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई सभी धर्मों को एक माना जाता है। लेकिन इसी भारत को आज क्या हो गया है आखिर क्यों इंसान-इंसान का ही दुशमन बन चुका है क्यों हर तरफ हिंसक हवा चल पड़ी है आंदोलनों के नाम पर लोग जान-माल को नुकसान पहुंचा रहे हैं आज पूरा भारत आदोंलनों की आवाज़ से गूंज उठा है क्या पेपर लीक और क्या एससी-एसटी प्रदर्शन हर ओर सिर्फ हाथों में झंड़ा लिए अपनी मांगों के लिए खड़े है तो क्या ऐसा है आज का भारत या ये कहें कि देश की छवि आज दयनीय है।

आज भारत बंद है, क्यों बंद है ये भी जान लेते है।

एससी-एसटी ऐक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में दलित संगठनों ने आज भारत बंद का ऐलान किया और आंदोलन करते करते इस आंदोलन ने एक उग्र रूप धारण कर लिया जिसका असर उत्तर भारत के कई राज्यों में व्यापक तौर पर दिखा। भारत को बंद करने के लिए खौफ दिखाया गया और हिंसक वारदातों में कई लोगों की मौत के मामले भी सामने आए कई घायल हुए लेकिन ये हिंसक प्रदर्शन ऐसे ही चलता रहा।

किन-किन राज्यों में हुआ हिंसक प्रदर्शन

मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश में प्रदर्शन के दौरान तीन लोगों की मौत की हुई जिसपर एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दलित संगठनों को अधिकारों की रक्षा का आश्वासन देते हुए शांति बनाए रखने की अपील की है। दलित संगठनों के भारत बंद के ऐलान को हकीकत बनाने की तस्वीरें दहशत फैलाने वाली हैं। कहीं बंद के ऐलान को आगजनी के साथ अमलीजामा पहनाया गया तो कहीं पर ट्रेनों को रोककर यातायात को प्रभावित करके दर्शाया गया कि आज भारत बंद है, क्या ये रास्ता अपनी बात मनवाने के लिए सही है।

बिहार में आंदोलनकारियों ने कई ट्रेनें रोकी

एससी-एसटी ऐक्ट पर SC के फैसले पर भारत बंद का असर बिहार में व्यापक स्तर पर देखने को मिला आरा, अररिया, फारबिसगंज, दरभंगा और जहानाबाद में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेनें रोकी राज्य के अलग-अलग इलाकों में प्रदर्शनकारियों ने टायर जलाकर और सड़कों पर जाम लगाकर अपना गुस्सा दिखाया। सड़कों पर जाम और ट्रेनें रोके जाने से आम लोगों की काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इस तरह से संगठनों ने कहा कि आज भारत बंद है।

यूपी में भी व्यापक असर

उत्तर प्रदेश में भी दलित संगठनों ने मेरठ, आगरा, सहारनपुर, वाराणसी, गाजियाबाद जैसे शहरों में हिंसात्म विरोध प्रदर्शन किया है। मेरठ में कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया है। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए हल्का बल का भी प्रयोग किया है।

राजस्थान में भी भड़के दंगे

अनुसूचित जाति/जन जाति को लेकर आये उच्चतम न्यायालय के फैसले के विरोध में आज भारत बंद का राजस्थान में व्यापक असर रहा। बस और ट्रेन संचालन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। जयपुर, अजमेर, बाडमेर, जोधपुर, श्रीगंगानगर, उदयपुर, सीकर में बंद समर्थकों और पुलिस में हल्की झड़प हुई। जयपुर में टोंक रोड पर बंद समर्थकों ने कुछ वाहनों के शीशे तोड़ दिये और दुकानों में तोड़फोड़ की और गांधी नगर रेलवे स्टेशन पर मालगाडी को रोकने की सूचना है। इस प्रदर्शन में एक की मौत

ये क्या हो गया मेरे भारत को क्या ये वहीं भारत है जहां गांधी जैसे अहिंसावादी महान व्यक्ति ने जन्म लिया क्या ये वहीं भारत है जहां पर सभी को मिल जुल कर रहने के लिए प्रेरित किया जाता है जो हो रहा है सही नहीं है जो दिख रहा है पूरी तरह से गलत है ये आज के भारत की दशा है जो सिर्फ दंगो में सिमटकर रह गया है, सब बिखर रहा है मेरा भारत टूट रहा है और दूर निसहाए खड़ा ये सब देखकर कह रहा है कि मैं भारत हूं और मैं आज बंद हूं……..

/* ]]> */