delhi ncr Latest

राबिया स्कूल मामले को लेकर CM अरविंद केजरीवाल ने मांगी रिपोर्ट

दिल्ली के राबिया पब्लिक स्कूल द्वारा फीस न देने पर छात्राओं को बंधक बनाने के मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रिपोर्ट तलब की है। उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है। उप-मुख्यमंत्री ट्वीट में लिखा है,’ मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रबिया पब्लिक स्कूल के मुद्दे पर रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने 12.30 बजे सभी तथ्यों के साथ सचिव और निदेशक शिक्षा बुलाई है’।

दिल्ली में एक बार फिर एक प्राईवेट स्कूल की घिनौनी करतूत सामने आयी है। जहां महज़ स्कूल की फीस न देने को लेकर स्कूल प्रशासन ने 16 से ज्यादा छात्राओं को बंधक बना लिया। कहा जाता है कि, स्कूल प्रशासन ने इन सभी छात्राओं को स्कूल के बेसमेंट में कैद कर दिया। घटना का पता उस वक्त चला जब मासूम छात्राओं के परिजन उनको स्कूल लेने पहुंचे। जिसके बाद उन्होंने पुलिस से इस पूरे मामले की शिकायत की। हालांकि, स्कूल प्रशासन इन सभी आरोपों को गलत ठहरा रहा है।

दरअसल, सेंट्रल दिल्ली के एक प्राइवेट स्कूल में नर्सरी और पहली कक्षा के 16 मासूम छात्राओं को मंथली फीस समय पर जमा ना करने की वजह से स्कूल के ही बेसमेंट में 5 घंटों तक बंद कर के रखा। स्कूल की छुट्टी होने के बाद भी छात्राओं को स्कूल से घर नहीं जाने दिया गया। बच्चों के पेरेंट्स ने स्कूल के ऑफिसेस में फ़ोन किये जिनका उन्हें कोई जवाब नहीं मिला।

इतना ही नहीं पेरेंट्स व परिजनों ने स्कूल के प्रिंसिपल और डायरेक्टर को भी काफी बार फ़ोन मिलाया लेकिन किसी ने कोई जवाब देना ज़रूरी नहीं समझा। स्कूल की छुट्टी हो जाने के काफी समय बीत जाने के बाद जब उन मासूम बच्चों के पेरेंट्स स्कूल पहुंचे तो वहां उन्होंने बच्चों को स्कूल के बेसमेंट में बंद पाया। स्कूल पहुंचे परिजनों ने पूरी घटना की सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची दिल्ली पुलिस ने मासूम छात्राओं को स्कूल वालों के चंगुल से छुड़ाया और पूरे मामले की छान बीन की। पेरेंट्स ने स्कूल वालों पर आरोप लगते हुए कहा है कि , बेसमेंट के जिस कमरे में बच्चे बंद थे उस कमरे में वेंटिलेशन का कोई साधन नहीं था और बच्चे गर्मी की वजह से बहुत ही गंभीर परेशानी की हालत में थे। पेरेंट्स ने ये भी आरोप लगाए हैं की बच्चों की अक्टूबर तक की फीस स्कूल में जमा है। इसके बावजूत भी स्कूल वालों ने, मासूम बच्चों को बंधक बना कर रखा।


पेरेंट्स के आरोपों के चलते दिल्ली पुलिस ने स्कूल के प्रिंसिपल के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। पुलिस को बेसमेन्ट की वीडियो क्लिपिंग भी सौंप दी गयी हैं। दिल्ली कमिशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ़ चाइल्ड राइट्स (DCPCR) की टीम भी स्कूल में जांच के लिए जाएगी। मामले में कार्यवाही शुरू कर दी गयी है। 

/* ]]> */