national World

यहां परीक्षा में पास होने के लिए सिगरेट में भरकर पिया जाता है गिद्धों का दिमाग़

ये खबर पढ़ कर  आपको थोड़ा अटपटा सा जरुर लगेगा, लेकिन ये एक कटुसत्य है। दक्षिण अफ्रीका में एक ऐसी जगह है जहां घोड़ों की रेस जीतने और परीक्षा में पास होने के लिए लोग गिद्धों का दिमाग सिगरेट में भरकर पीते हैं।

 

दरअसल,  यहां के लोग अपनी किस्मत को बुलंदियों पर पहुंचाने के लिए गिद्धों के दिमाग को जलाकर उसके अवशेष को सिगरेट में भरकर पीते हैं। कहा जाता है कि, ऐसा लोग इस लिए करते हैं ताकि लॉटरी, घोड़ों की रेस जीतने के साथ-साथ परीक्षों में पास हो सके हैं।

 

इतना ही नहीं खबर तो ये भी है कि, इसी अंधविश्वास के चलते यहां के हालात यहां तक जा पहुंचे हैं कि, कि वन्यजीव विशेषज्ञों को आगाह करना पड़ा कि गिद्धों के साथ अगर ऐसी बर्बरता जारी रही तो दक्षिण अफ्रीका से उनका नामोनिशान हमेशा के लिए खत्म हो जाएगा।विशेषज्ञों के अनुसार अगर पारंपरिक दवाओं और अन्य वजहों से 20 से 30 सालों तक इन पक्षियों का इसी तरह शिकार जारी रहा तो वे हमेशा के लिए समाप्त हो जाएँगे।

वहीं एक तांत्रिक स्केलो ने इस पूरे मामले को लेकर बकायदा एक बयान भी जारी किया था, जिसमें उसने कहा है कि गिद्ध बहुत कम बचे हैं। तीन चार महीनों में मुझे एक गिद्ध मिल पाता है। सभी उसके दिमाग के बारे में पूछते रहते हैं, क्योंकि गिद्ध वह सब कुछ देख सकते हैं, जो आम प्राणी नहीं देख पाते। तांत्रिक ने बताया हम दिमाग को जलाकर सुखा देते हैं और फिर उसे कीचड़ में मिलाकर सिगरेट की तरह पीते हैं। वो लोगों को गिद्धों का दिमाग पीने का सुझाव देता है। उसका कहना है कि गिद्धों की नजर बेहद तेज होती है और वे वहाँ तक उड़ कर जा सकते हैं, जहाँ कोई नहीं पहुँच सकता।

दक्षिण अफ्रीका में हो रहे गिद्धों के साथ इस बर्ताव को चलते वहां का शासन प्रशासन बेहद चिंतित है लिहाज़ा यहां की सरकार लोगों को जागरुक करने और गिद्धों घटती प्रजाति पर रोक लगाने के लिए तमाम तरह की योजना चला रहा है।

/* ]]> */