Blogs dharam

गणेश चतुर्थी पर पूरी होंगी सब इच्छाएं,ध्यान रखें इन बातों का

आगामी 13 सितम्बर को साल के बड़े पर्वों में से एक गणेश चतुर्थी आने वाला है। देशभर में गणेश चतुर्थी का त्यौहार बड़े ही हर्ष उल्लास के साथ मनाया जाता है।  हिन्दू धर्म में कहा जाता है की घर में गणपति बाप्पा को सही तरीके से स्थापित करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है। गणेश जी की मूर्ति को घर के मंदिर में रखने से किसी प्रकार का क्लेश नहीं होता और घर में खुशियां भरी रहती है। अकसर ये भी देखा गया है की गणेश जी की मूर्ति को स्थापित करने में कई भूल हो जाती है जिससे उनके आशीर्वाद से हम वंचित रह जाते है।

आइये आपको बताते हैं की गणेश जी को आप अपने घर में कहां और किस तरह स्थापित करें ताकि सुख समृद्धि बनी रहें-

आपके घर के मंदिर में गणेश जी की सिर्फ एक मूर्ति होनी चाहिए। एक से ज्यादा मूर्ति होने से उनकी पत्नियां नाराज़ हो जाती हैं।

अपने घर उसी गणपति की मूर्ति लाएं जिनकी सूढ़ बायीं तरफ झुकी हुई हो। अपने घर में हमेशा बैठे हुए मुद्रा में गणेशजी को स्थापित करें। अपने कार्य की जगह या ऑफिस में खड़े हुए गणेश जी को रखना चाहिए।


अपने घर के दक्षिण में सीढ़ियों के नज़दीक और साथ ही आपके सोने का स्थल वहां कभी भी गणेशजी की मूर्ति नहीं रखनी चाहिए क्यूंकि ऐसा करने से धन की हानि होती है।
वास्तु शास्त्र की मानें तो अगर आपके घर का मेन दरवाज़ा दक्षिण या उत्तर दिशा में है तो घर के मुख्या द्वार पर गणेश जी की मूर्ति लगानी चाहिए। इस बात का ध्यान विशेषकर रखें की जहां भी आप भगवान गणेशजी की मूर्ति स्थापित करें तो उनकी पीठ किसी भी साइड से दिखाई ना दें।

कई बार ये भी देखा गया है की कुछ घरों में धार्मिक कार्यक्रमों के बाद बेटी को बिदाई के समय मूर्ति बतौर गिफ्ट दिया जाता है जो की ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बिलकुल गलत है। खासकर गणेश जी की मूर्ति तो गलती से भी नहीं देना चाहिए।


ऐसा कहा जाता है की गणेशजी और माता लक्ष्मी के एक साथ होने से धन आने का इशारा मिलता है। इसलिए कभी भी अकेले गणेशजी की मूर्ति गिफ्ट में नहीं देना चाहिए इससे पैसों की परेशानी हो सकती है

/* ]]> */