Sports

कैसे एक किसान का बेटा बना करोड़ों रुपए कमाने वाला खिलाड़ी ….

कभी बेबसी में था जीवन….

किसी नाम का मोहताज नहीं है 10 जून 1994 को हरियाणा के एक किसान परिवार में जन्में दीपक हुड्डा. कभी बेबसी में गुजरा था जीवन. 4 साल की उम्र में मां का देहांत हो गया वहीं जब 12वीं कक्षा में थे तो पिता का साया भी सिर से छिन गया, लेकिन दीपक ने कभी जीवन में हार नहीं मानी. पेट पालने के साथ-साथ अपने सपने को भी जिंदा रखा और संघर्ष की एक नई मिसाल पेश की.

अपने शानदार प्रदर्शन के चलते दीपक हुड्डा को अभिषेक बच्चन की टीम जयपुर पिंक पैंथर्स ने 1.15 करोड़ रुपए में अपने साथ जोड़ा है. हरियाणा के इस खिलाड़ी ने प्रो कबड्डी लीग में इतिहास रचते हुए सबसे बड़ी कीमत पाई है.

सीजन 6 की नीलामी में दीपक हुड्डा प्रो कबड्डी लीग के इतिहास के सबसे महंगे खिलाड़ी बन गए हैं. हुड्डा की बिडिंग के लिए काफी देर तक टीमों में जंग चलती रही और आखिर में पिंक पैंथर्स ने बाजी मारी. हुड्डा का बेस प्राइस 20 लाख रुपए था.

2016 के साउथ एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने वाली भारतीय कबड्डी टीम का हिस्सा रह चुके है दीपक. वहीं वीवो प्रो कबड्डी लीग के सीजन 5 में पुनेरी पल्टन का हिस्सा रहे हुड्डा ने ईरान के फजल का रिकॉ्रड तोड़ते हुए सबसे बड़ी कीमत अपने नाम की है.
आपको बता दें कि इससे पहले पिछले सीजन नितिन तोमर को यूपी योद्धा ने 93 लाख में अपने साथ शामिल किया था। वे इससे पहले सबसे महंगे खिलाड़ी थे। हालांकि अब ये रिकॉर्ड दीपक हुड्डा के नाम है.

 

 

/* ]]> */