BJP Congress Latest national Politics Politics State

कर्नाटक में चुनाव बरकरार, अब बीजेपी के सामने खड़ी हुई ये चुनौती

कर्नाटक

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद सस्पेंस खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। पहले मुख्यमंत्री बनने की रेस और अब विधायकों की संख्या को लेकर उठा भूचाल कब खत्म होगा, ये देखना दिलचस्प होगा।

आपको बता दें कि, राज्यपाल के आदेश के बाद आज भले ही बीजेपी के उम्मीदवार येदियुरप्पा ने मुख्समंत्री पद की शपथ ले ली हो, लेकिन उनके सामने बहुमत साबित करने की बड़ी चुनौती बरकरार है।

हालांकि, बीजेपी शुरु से ये दावा करती रही है कि, उसके पास पूर्ण बहुमत है और आगे होने वाले फ्लोर टेस्ट में वो इसे साबित भी कर देगी। इधर जेडीएस और कांग्रेस भी अपना पूर्ण बहुमत होने का दावा कर रही है। इसी के चलते गठबंधन दल ने अपना विरोध दर्ज कराते हुए धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान कांग्रेस ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि, बीजेपी जिस तरह से आनन-फानन में येदियुरप्पा को मुख्‍यमंत्री पद की शपथ दिलाई गई है, यह सरासर संविधान की हत्‍या है।

गौरतलब है कि कांग्रेस-जेडीएस राज्य में सरकार बनाने का दावा कर रही थी। कांग्रेस का आरोप है कि कुमारस्वामी ने कांग्रेस विधायकों के समर्थन से 222 सदस्यों की विधानसभा मे 116 विधायकों का समर्थन पेश किया था, इसके बावजूद राज्यपाल ने उन्हें सरकार गठन के लिए न्‍योता नहीं दिया। उन्‍होंने कहा कि 104 विधायकों वाली भाजपा को सरकार बनाने के लिए निमंत्रण दे दिया। इस बाबत कांग्रेस ने गोवा के मामले का उदाहरण दिया।  

उधर, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि बहुमत न होने के बाद भी भाजपा की सरकार बनना संविधान का मजाक उड़ाना है। आज सुबह जब भाजपा अपनी खोखली जीत का जश्न मना रही होगी तो भारत लोकतंत्र की हार का शोक मनाएगा।