Health & Fitness Home & Kitchen infotainment

प्लास्टिक की बोतल में पीते हैं पानी तो हो जाएं सावधान!

शरीर को हाइड्रेटेड रखने के लिए दिनभर में 8 से 10 गिलास पानी पीना जरूरी है। लेकिन बदलते दौर के साथ पानी को स्टोर करने के तरीका भी बदल गए है। पहले घर में पानी रखने के लिए मटके का इस्तेमाल किया जाता था, लेकिन अब लोग प्लास्टिक की बोतलों में ही पानी रखते है।

यहीं नहीं बाहर मिलने वाली मिनरल वॉटर जिसे हम सब साफ समझकर पीते हैं, वो भी प्लास्टिक की बोतलों में ही बेचा जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि प्लास्टिक की बोतल में पानी पीना आपके लिए जानलेवा बीमारियों का कारण बन सकता है।

आइए जानते हैं प्लास्टिक की बोतलों में पानी पीने से क्या-क्या नुकसान होते हैं-

  • प्लास्टिक की बोतल से डाऑक्सिन निकलता है जो ब्रेस्ट कैंसर का कारण बन सकता है।

  • लीवर कैंसर का खतरा हो सकता है क्योंकि प्लास्टिक में फैथलेट्स जैसे केमिकल होते है।

  • इसके अलावा स्टिक फ्लोराइड, आर्सेनिक और एल्युमीनियम भी पानी में घुल जाते हैं। ये सभी पदार्थ आपकी सेहत तो लिए स्लो पॉइजन का काम करता है।

  • इसके बाद ही प्लास्टिक की बोतल बाइफिनाइल और केमिकल भी रिलीज करती है, जिससे शरीर को काफी नुकसान होता है।

  • बाइफिनाइल से शरीर को डायबिटीज, फर्टिलिटी, व्यवहार से संबंधित समस्याएं पैदा हो सकती है। अच्छा होगा कि आप प्लास्टिक की बोतलों में पानी स्टोर करना छोड़ दें।

  • प्लास्टिक की बोतलों में पानी पीने से हमारा इम्यून सिस्टम भी प्रभावित होता है।
/* ]]> */