infotainment Latest national

क्या आप जानते हैं? आप ब्लड ग्रुप के हिसाब से ज़िन्दगी जीते हैं, जानिए कैसे

ब्लड ग्रुप

हम सभी इस बात से अच्छी तरह वाकिफ़ हैं कि हर इंसान के अंदर अलग-अलग ब्लड ग्रुप होता है। और दुनिया में सिर्फ 8 प्रकार का ही बल्ड ग्रुप है। लेकिन आप शायद ये नहीं जानते होगों कि हर व्यक्ति का स्वभाव ब्लड ग्रुप के हिसाब से अलग-अलग होता है। और न हीं आप ये जानते होंगे कि बल्ड ग्रुप के हिसाब से ही हम अपनी ज़िन्दगी को जीया करते हैं। आइये कुछ ऐसी ही जानकारी आज आपको देते हैं।

 

हम इस बात से भलि भांति परचित हैं कि ब्लड ग्रुप की जानकारी सबसे पहले 1901 में हुई थी। ब्लड ग्रुप 8 तरह के होते हैं। इन ब्लड ग्रुप में अंतर खून में पाए जाने वाले अणुओं के कारण होता है।

A(+) ब्लड ग्रुप इस ग्रुप के लोग सभी को अपने साथ लेकर चलने और सबका विश्वास जितने में यकीन रखते हैं। इनमें लीडरशिप के गुण होते हैं। इन्हें गुस्सा बहुत आता है और ये बेफजूल खर्चा करते हैं।

A(-) ब्लड ग्रुप ये लोग काफी मेहनती होते हैं। कभी भी मेहनत करने से पीछे नहीं हटते। ये अपनी मेहनत से किसी भी मुकाम को हासिल करने विश्वास रखते है। इनका मानना है कि मेहनत का कोई विकल्‍प नहीं होता।

B(+) ब्लड ग्रुप इनका दिल दूसरों के लिए दरिया होता है। ये किसी की भी मदद करने से पीछे नहीं हटते और किसी के लिए बलिदान भी दे सकते हैं। इनके लिए रिश्ते बहुत मायने रखते हैं। ये हमेशा दूसरों के लिए कुछ न कुछ करना चाहते हैं।

4. B(-) ब्लड ग्रुप ऐसे लोग स्वार्थी होते हैं और ये सिर्फ अपने बारे सोचते हैं। वे किसी मदद करने में भी नहीं विश्वास रखते। इनका नजरियां भी गलत होता है।

AB(+) ब्लड ग्रुप इन लोगों को समझना बहुत मुश्किल होता है। इन्हें आसानी से समझा नहीं जा सकता। उनके बारे में किसी को भी नहीं पता चलता कि वे कब क्‍या सोच सकते हैं।

AB (-) ब्लड ग्रुप इनका दिमाग बहुत तेज होता है। ये लोग बड़ी आसानी से किसी की भी बात को समझ जाते हैं। ये लोग किसी पर विश्वास नहीं करते।

O (+) ब्लड ग्रुप ये लोग दूसरों की मदद करने से पीछे नहीं हटते। उनके बारे में यह माना जाता है कि वे बस लोगों की मदद करने के लिए पैदा हुए है। वे अपना पूरा जीवन दूसरों की सहायता करने में बिता देते हैं।

O(-) ब्लड ग्रुप इन लोगों को दूसरो की बिल्कुल भी टेंशन नहीं होती। वे सिर्फ अपने बारे में ही सोचते हैं। ऐसे लोग संकीर्ण मानसिकता वाले होते हैं। ये अपनी जिंदगी नए विचारों को आसानी से स्वीकार नहीं करते।

/* ]]> */