Blogs

एक ऐसी जगह जहां चाय के भाव में बेच दी जाती हैं लड़कियां

भारत देश में लड़कियों को देवी कहा जाता है, घर की इज्जत कहा जाता है। मगर इसी भारत में एक जगह ऐसी भी है, जहां एक कुप्रथा के नाम पर घर की इज्जत की बोली लगाई जाती है।

मध्यप्रदेश को भारत का हृद्य माना जाता है और दूसरे सबसे राज्य के तौर पर इसका अस्तित्व है। इसी राज्य में एक छोटा सा शहर है शिवपुरी। ये वही शिवपुरी है जहां की लड़कियां कुप्रथा का शिकार है।

10 रुपए स्टाम्प पर मोहर

एक ऐसी कुप्रथा जिसमें लड़कियों को माटी के मोल बेच दिया जाता है। इसका नाम है धड़ीचा। धड़ीचा शिवपुरी की मशहूर प्रथा है, इसमें लड़कियों की खरीद-फरोख्त की जाती है। लोग अपने घर की लड़कियों को सजाकर उन्हें प्रदर्शनी की तरह पेश करते हैं और फिर उनकी बोलियां लगाई जाती है। जिस मर्द को जो लड़की पसंद आए है वो स्टाम्प पेपर पर मोहर लगाकर उसे ले जा सकता है।

जितनी बड़ी रकम उतना लंबा रिश्ता

लड़की के घरवालों और लड़के में एक कॉन्ट्रेक्ट होता है जिसके मुताबिक जितनी ज्यादा रकम उतना लंबा रिश्ता। अगर कम रकम हो तो रिश्ता कुछ समय में खत्म। कॉन्ट्रेक्ट खत्म होते ही महिला दूसरे मर्द को सौंप दी जाती है और यह सिलसिला यूं ही जारी रहता है। हालांकि इस कुप्रथा को खत्म करने के बार कई बारें आवाज़ें उठाई गई लेकिन आज भी शिवपुरी की गलियों में लड़कियों को बेचा जाता है।

इस आर्टिकल को शेयर कर समाज में जागरुकता फैलाने में अपना योगदान दें।

/* ]]> */