delhi ncr infotainment

आज से बेहद खूबसूरत थी पहले की दिल्ली, इतिहास में ले जाएंगी दिल्ली की ये पुरानी तस्वीरें

दिल्ली दिलवालों की… हां अब दिल थोड़ा छोटा हो गया है. वो ऐसे कि यहां अब खाली जगह खत्म होती जा रही है. चारों तरफ भीड़-भाड़…गाड़ियों के हॉर्न…बड़ी-बड़ी इमारतें और उनके बाजू में छोटी-छोटी झुग्गियां. हालांकि फिर भी राजधानी दिल्ली समय के साथ आगे बढ़ रही है. लेकिन इस पोस्ट में दिल्ली के इतिहास में जाएंगे और देखेंगे दिल्ली के बदलने की कहानी को.

आखिरी मुगल बादशाह बहादुर शाह जफ़र के बाद सन 1857 में देश की राजधानी कलकत्ता हुआ करती थी. लेकिन अंग्रेजी हुकूमत के पास सत्ता जाने पर 13 फरवरी 1931 को राजधानी को बदल कर कलकत्ता से दिल्ली किया गया. और उसके बाद से दिल्ली कुछ इस तरह बदली…देखिए तस्वीरों के जरिए.

  1. दिल्ली की बात हो तो सबसे पहले बात आती है दिल्ली के दिल कहे जाने वाले कनॉट प्लेस की, जिसे लुटियंस दिल्ली के एक भाग के रूप में डिजाइन किया गया था, और यह दिल्ली के इतिहास में एक मील का पत्थर है जो इन सभी दशकों के बाद भी राजधानी को परिभाषित करता है.
image source: Google

       2.  बदलते समय ने चांदनी चौक इलाके को कुछ इस तरह बदल दिया कि आज ये पहचान में भी नहीं आता.

image source: Google( 19th Century)

       3. जामा मस्जिद के बाहर का एक फोटो जो दिखाता है उस समय को.

image source: Google( 19th Century)

       4. लाल किले की पुरानी तस्वीर जो बेहद शानदार है. याद दिलाती है उस दौर को जब शासन भारतीयों के पास नहीं था.

image source: Google( 19th Century)

        5. दिल्ली सल्तनत में बनाया गया कुतुब मीनार आज भी लोगों को अपनी ओर आकर्षित करता है.

image source: Google( 19th Century)

        6.  पुरानी दिल्ली में पहले ट्राम चला करती थी उसकी तस्वीर.

image source: Google

        7. सितंबर 1857 में दिल्ली के बादशाह बहादुर शाह जफर को कैप्टन हडसन के सामने ले जाते सैनिक.

image source: Google( 19th Century)

       8. अंग्रेजी हुकूमत के दौरान दिल्ली दरबार की तस्वीरें. जहां उस समय के राजा और रानी दरबार में हैं.

image source: Google

        9. एडविन लुटियन द्वारा डिजाइन की गई दिल्ली कुछ इस तरह की थी.

image source: Google

         10. नई दिल्ली…

image source: Google

बहरहाल समय के साथ दिल्ली पूरी तरह से बदल चुकी है. यहां के लोग बदल चुके हैं लेकिन नहीं बदला तो वो है दिल्ली का दिल.

/* ]]> */