delhi ncr Khabron se Hatkar Latest Travel

क्या आप शान्ति और सुकून का वक़्त गुज़ारना चाहते हैं ? नोएडा के इन जगहों की सैर ज़रूर करें

क्या आप उत्तर प्रदेश के नोएडा में या आस पास रहते हैं और बढ़ते प्रदूषण में हरियाली की तलाश में हैं तो आपको ज्यादा दूर जाने की ज़रूरत नहीं। क्या नोएडा से आपको सिर्फ ऊंची इमारतें और माल्स दिमाग में आता है तो आइये आपको नोएडा के उन जगहों के बारे में बताते हैं जहां जाकर आपको एक अलग एहसास होगा प्रकृति का और आप बिलकुल यही सोचेंगे की आखिर ये जगह भी थी आपके आसपास ?इन जगहों पर सुकून महसूस करेंगे और खुद को प्रकृति और हरियाली से बेहद करीब पाएंगे।

ओखला बर्ड सैंक्चुअरी

क्या आप जानते है की नोएडा में एक बर्ड सैंक्चुअरी है? जी हाँ ओखला बर्ड सैंक्चुअरी ओखला बराज के पास स्थित है। ये जगह शहर के शोरगुल और भीड़ से काफी दूर बसा है। इस सैंक्चुअरी में आपको पक्षियों के 320 से ज्यादा प्रजाति देखने को मिलेंगी साथ ही पेड़ पौधों की 188 प्रजातियां का इस सैंक्चुअरी में बसेरा हैं। अगर आप नेचर लवर है और बर्ड वाचिंग आपको अच्छा लगता है तो ये जगह आपके लिए बिलकुल परफेक्ट है। इस सैंक्चुअरी में आपको चिड़ियों की कुछ ऐसी दुर्लभ प्रजातियां दिखेंगी जिनका अस्तित्व ख़त्म होने के कगार पर है। इस सैंक्चुअरी के चारों तरफ बहुत सुन्दर हरियाली दिखाई देती है और इसकी खूबसूरती प्राकृतिक है ।

 

त्रिफला पार्क

नोएडा के सेक्टर 61  के नज़दीक स्थित है त्रिफला पार्क जो शहर के ऊंची इमारतों के बीच प्राकृतिक खूबसूरती देखने के लिए एक अच्छी जगह मानी जाती है। ये पार्क काफी बड़ा है और यहां आपको पेड़ पौधों की ढेर साड़ी वैरायटी देखने को मिलेंगी। इस पार्क में औषधीय पौधों भी काफी है जो आयुर्वेदिक दवा बनाने में काम आती हैं। ये पार्क इस इलाके के लोगों में काफी पॉपुलर है जहा लोग मॉर्निंग वॉक और बच्चे खेलने के लिए आते हैं। इस पार्क में लोगों के जॉगिंग के लिए एक अलग ट्रैक बनाया हुआ है। साथ ही लोग यहां छांव में रिलैक्स भी कर सकते हैं।

दलित प्रेरणा स्थल

नोएडा का दलित प्रेरणा स्थल 33 एकड़ के एरिया में फैला हुआ है। इस जगह आपको बाबा भीमराव आंबेडकर की मूर्ति भी लगी दिखेगी। साथ ही यहां कई पेड़ पौधे भी लगे हुए है जो लोगों को आराम पहुँचाते हैं और एक एक फ्रेंडली माहौल बनाते है। शहर की हलचल और भीड़भाड़ से दूर ये जगह आपको शान्ति और सुकून देती हैं।

नोएडा के इन जगहों की सैर ज़रूर करें

/* ]]> */