BJP Latest Politics

बिमारी के कारण AIIMS में भर्ती हैं वाजपेयी, मिलने के लिए नेताओं का लगा तांता

बिमारी के कारण AIIMS में हैं भर्ती

3 बार प्रधानमंत्री रहे अटल बिहारी वाजपेयी को तबीयत खराब होने के चलते AIIMS में भर्ती कराया गया. वाजपेयी अभी 93 साल के हैं और वो पिछले 9 सालों से किडनी संबंधित बिमारियों से जूझ रहे हैं. जिसके बाद उन्हें 11 जून को अस्पताल में भर्ता कराया गया.

वहीं आज मेडिकल बुलेटिन के अनुसार वाजपेयी की हालत अब स्थिर है.  उन्हें एंटी बायोटिक्स दिए जा रहे हैं और इन दवाईयों का उनपर अच्छा असर हो रहा है.

एम्स में वाजपेयी से मिलने वालो का तांता लगा हुआ है. आईये बतातें हैं कौन-कौन से नेताओं ने अस्पताल पहुंच कर पूर्व प्रधानमंत्री की हाल जाना और उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना की.

वाजपेयी से मिलने के लिए नेताओं का लगा तांता

सोमवार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनका हालचाल जानने एम्स पहुंचे.  वह करीब 50 मिनट तक वहां रुके. वहीं इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी वाजपेयी से मिलने पहुंचे. राहुल के बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी अस्पताल पहुंचे. उनके साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा भी थे.

पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के अलावा राजनाथ सिंह समेत कई केंद्रीय मंत्री और पार्टी पदाधिकारी भी उन्हें देखने एम्स पहुंचे.

एक कविकार…एक लेखक…कमाल के राजनेता…और भी बहुत कुछ.

राजनीति की विचार धारा भले ही अलग हो …लेकिन हमारे देश में अच्छी बात यही है कि  बुरे वक्त में हमारे यहां सभी परेशानी के वक्त में एक साथ आ जाते हैं. अटल बिहारी वाजपेयी का कद इतना बड़ा है वो इससे पता चलता है कि सारे पक्ष-विपक्ष के नेता उनसे मिलने पहुंच रहे है.  इस क्रम में आज कलराज मिश्र, अनंत गीते और अश्विनी चौबे के भी नाम जुड़े.

इसमें आज शिवसेना के युवा नेता आदित्य ठाकरे का भी नाम जुड़ा. जानकारी के अनुसार पूर्व पीएम देवगौड़ा, संघ प्रमुख मोहन भागवत और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी वाजपेयी से मुलाकात करेंगे.

अटल बिहारी वाजपेयी की शख्सियत है हि ऐसी की कोई भी उनका कायल हो जाए भले ही वो विपक्ष का नेता क्यों न हो. भारत के प्रधानमंत्री रहे मनमोहन सिंह ने वाजपेयी को राजनीति का भीष्म पितामाह कहा था.

 

 

/* ]]> */