dharam Khabron se Hatkar Latest State World

NGT का बड़ा फैसला अब बाबा अमरनाथ के नहीं लगेंगे जयकारे !

NGT ने अब पवित्र गुफा अमरनाथ को शांत क्षेत्र घोषित कर जयकारों पर रोक लगा दी है। लेकिन जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला इस फैसले ने नाखुश दिखाई दे रहे है। वही अब्दुल्ला ने ट्वीट कर कर एनजीटी के इस फैसले पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘मैं समझ नहीं पा रहा हूं कि पवित्र अमरनाथ गुफा के बाहर तीर्थयात्रियों के जप और जयकारे से पर्यावरण को कैसा नुकसान पहुंचेगा। पवित्र गुफा अमरनाथ को एनजीटी ने साइलेंस जोन घोषित किया है। और एक निश्चित सीमा से आगे जयकारे लगाने पर रोक लगा दी है। इसी के साथ ही अमरनाथ श्राइन बोर्ड को इस आदेश को मानने का निर्देश देते हुए एनजीटी प्रमुख जस्टिस स्वतंत्र कुमार की पीठ ने कहा कि बोर्ड गुफा के आसपास पर्याप्त सुविधाएं मुहैया कराएगा। जिससे कोई भी दर्शनार्थी पवित्र हिमलिंग के दर्शन से वंचित न रहने पाए और भजन-कीर्तन और जयकारों के कारण गुफा की शांति बनी रहे। इसी के साथ एनजीटी ने वहाँ लगी लोहे की ग्रिल को हटाने का आदेश भी दिया ताकि जिससे भक्त हिमलिंग के दर्शन बेहतर ढंग कर सकें। एनजीटी ने अंतिम सीमा से आगे दर्शनार्थियों को कोई भी निजी सामान ले जाने पर भी अनुमति नहीं है।

एनजीटी ने कहा की इससे हिमस्खलन जैसी प्राकृतिक आपदाओं को रोकने व गुफा की प्राचीन स्थिति को बरकरार रखने में मदद मिलेगी। वहीं विश्व हिन्दू परिषद् एनजीटी के इस फैसले से काफी नाराज़ दिखा और उनका कहना है कि अमरनाथ मंदिर में पूजा पद्धति पर रोक लगाकर एनजीटी ने तुगलकी फरमान जारी किया है। साथ ही कहा कि हर प्राकृति आपदा के लिए हिंदू जिम्मेदार नहीं हैं। तो एनजीटी के फैसले से लोगों में नाराजगी में देखने को मिल रही है ऐसे में एनजीटी के लगाए गए रोक का आगे क्या असर होता है ये देखना होगा।   

/* ]]> */